‘बहुत मज़ा आया गुरु’: मिर्ज़ापुर 2 के डायलॉग

सीजन 1 के लांच होने के करीब दो साल बाद मिर्ज़ापुर का दूसरा सीजन लांच हो चुका है. मिर्ज़ापुर उन चंद वेब सीरीज में से एक है, जिन्होंने OTT प्लेटफार्म को सिनेमाघरों और टेलीविज़न के अतिरिक्त एक अलग माध्यम के रूप में सफल ढंग से प्रचारित किया.

इस दूसरे सीजन में श्वेता त्रिपाठी (गोलू), रसिका दुग्गल (बीना), ईशा तलवार (माधुरी यादव), अनंगशा बिस्वास (ज़रीना), पंकज त्रिपाठी (कालीन भईया), अली फज़ल (गुड्डू), दिव्येंदु शर्मा (मुन्ना भईया), विजय वर्मा (भारत त्यागी और शत्रुघ्न त्यागी), कुलभूषण खरबंदा (बाबूजी), प्रियांशु पेन्यूली (रॉबिन), प्रमोद पाठक (जे पी यादव), अंजुम शर्मा (शरद शुक्ला), राजेश तैलंग (रमाकांत पंडित), शीबा चड्डा (वसुधा), शाजी चौधरी (मक़बूल), लिलिपुट (दद्दा), हर्षिता गौर (डिंपी), अनिल जॉर्ज (लाला), आदि कलाकार हैं अपनी -अपनी भूमिकाओं में हैं. बाहुबली, क्राइम, सत्ता, राजनीति, रिश्ते, भावनाओं, बदला, उत्पीड़न आदि ताने-बाने पर आधारित पूर्वांचल क्षेत्र के कैनवस पर गढ़ी गई कहानी की बागडोर को इस सीरीज में महिलाओं ने अपने हाथों से संचालित किया है.

मंजिल एक होने का मतलब रास्ते का भी एक होना जरुरी नहीं है…

पहले सीरीज के कुछ डायलॉग काफी मशहूर हुए थे. आइये जानते हैं इस सीरीज के कुछ डायलाग जो मशहूर होने के दावेदार हैं:

  1. हिंदी फिलम के हीरो हैं बे हम, हमें कोई नहीं मार सकता. हम अमर हैं… अमर…
  2. जीत की गारंटी तभी है जब जीत और हार दोनों कण्ट्रोल में हों…
  3. तकलीफ उनकी नहीं होती जो चले जाते हैं, तकलीफ उनकी होती है जो पीछे रह जाते हैं…
  4. सब जगह शादी में डी जे चलता है, पर हमारी यू.पी. की शादी में गोली चलती है…
  5. पापा लोग न, बहुत कण्ट्रोल करते हैं…
  6. बिहार में लेट किया, तो कुर्सी गई…
  7. प्यार था इसलिए मारे…
  8. नियम कभी भी बदल सकते हैं…
  9. टैलेंट तो बहुत है लेकिन इंटरेस्ट नहीं…
  10. कुछ लोग बाहुबली पैदा होते हैं और कुछ को बनाना पड़ता है…
  11. दिखते समय कॉन्फिडेंस हो तो पब्लिक पूछती नहीं की फाइल में क्या है…
  12. जब कुर्बानी देने का टाइम आता है, तो कुर्बानी सिपाही की दी जाती है. राजा और राजकुमार जिन्दा रहते हैं, गद्दी पर बैठने के लिए…
  13. मंजिल एक होने का मतलब रास्ते का भी एक होना जरुरी नहीं है…
  1. अब हमको बदला भी लेना है और मिर्ज़ापुर भी…

पुनीत कृष्णा द्वारा रचित और गुरमीत सिंह और मिहिर देसाई द्वारा निर्देशित इस सीजन के निर्माता रितेश सिधवानी और फरहान अख्तर हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *